Free Backlink Checker Tool 2020

80 Views

How To Free Backlink Checker Tool 2020

Backlink Checker Tool
Backlink Checker Tool

नमस्कार दोस्तों TOP HINDI HELP वेबसाइट में आपका स्वागत है. में आपको Free Backlink Checker के बारे में बताने वाला हु.में आपको यह क्या है कैसे काम करता है में उसकी जानकारी देने वाला हु.

Website को Rank करने में Backlink Checker Toolकी मदद से होता है। अगर आपको बेक लिंक बनाना सीखना है तो ये आप पठ सकते है

Narendra Modi Biography In Hindi

 Free  Backlink Checker Tool

1. Ahref Backlink Checker Tool

2. Semrush Seo Backlink Checker Tool

3. Moz.com

4. Open Link Profiler Backlink Checker Tool

5. BackLinkWatch Checker Tool

6. Monitor Backlinks

7. SEOkicks Backlink Checker Tool

8. Google Search Console

9. Linkody Backlink Checker Tool

10. Rank Signal

जो मेने Tool बताये है वो सभी Tool को follow करेंगे तो Backlink Checker Tool बनाने में खाफी आसानी से आप अपनी वेबसाइट का back लिंग बना सकेंगे।

Free Backlink Checker है क्या है ?

Backlink Checker Tool
Backlink Checker Tool

बैकलिंक english के दो शब्दों से मिलकर बना है- पहला Back और दूसरा Link.Back  यानि पीछे या फिर बाहर और Link यानि किसी वेबसाइट का कोई URL. तो अगर कुल मिलाकर कहें तो.Website के लिए Backlink क्यों जरूरी हैं

आपने ये तो जरूर सुना होगा कि Website को गूगल में अच्छी position पर रैंक कराने के Backlinks बनाना बहुत जरूरी होता है। लेकिन क्या आपने कभी जानने की कोशिश की है कि backlinks और हमारी साइट की Google Rankings में क्या Connection है और आखिर क्यों Google किसी Website को मिले Backlinks के आधार पर उसकी Ranking Decide करता है?

 Backlink के प्रकार

 1. Do Follow Free Backlink 

 2.No Follow Free Backlink

 3. U.G.C Free Backlink

 4. स्पॉन्सर्ड Free Backlink
 5. Free Backlink संबंधित प्रमुख शब्द 

 6. वेबसाइट के लिए Free Backlink कैसे बनाएँ?

 7. डाइरेक्टरी और कम्यूनिटी में शामिल करें

  Do-Follow Backlink

  इस Backlink का जन्मGoogle के जन्म के साथ ही हुआ। Do Follow  backlinks को Google में rank करने के लिए सबसे powerful    weapon माना जाता है।
  Do-Follow Backlink वे backlinks होते हैं जो गूगल को इशारा करते हैं कि Backlink देने वाली साइट उस साइट पर पूरा भरोसा करती      है  जिसको वह backlink दे रही है। यानि backlink लेने वाली साइट trustworthy है और इस backlink को पूरी अहमियत दी जानी          चाहिए।
  No, Follow Free Backlink 
  अगर आप किसी गलत काम करने वाली Website जैसे- spammy site, child pornogrphy site को do-backlink दे देते हैं तो इससे      Google आपकी साइट को सजा दे सकता है।
  इसके लिए Google ने साल 2005 में backlink का एक नया type लॉन्च किया जिसका नाम उन्होंने no-follow रखा। यानि गूगल उस    link को follow नहीं करेगा। दूसरे शब्दों में कहें तो उस backlink से किसी भी वेबसाइट की ranking प्रभावित नही होगी और गूगल उसे    कोई ज्यादा अहमियत नहीं देगा। वह लिंक सिर्फ और सिर्फ लोगों को उस वेबसाइट तक पहुंचाने का काम करेगा।
  U.G.C Free Backlink 
  यह Backlink का बहुत ही नया type है जिसे सितंबर 2019 में Google द्वारा द्वारा launch किया गया। UGC का पूरा नाम होता है-        User    Generated Content यानि यूजर द्वारा बनाया गया कंटेन्ट।
इस link type को बनाने के पीछे गूगल का मकसद यूज़रों के सोशल मीडिया कंटेन्ट और comments के द्वारा बनाए गए links को          अलग करना था।
इसका उपयोग इस attribute द्वारा अपनी Website पर किया जा सकता है.
  स्पॉन्सर्ड Free Backlink 
  कई बार बड़ी कंपनियां ब्लॉगर्स को उनके product का प्रचार करने के लिए पैसे देती हैं जिसके बदले में ब्लॉगर्स उनके प्रोडक्ट का प्रचार      अपने ब्लॉग पर करते हैं।
  इस तरह कई बार वे उस कंपनी की वेबसाइट को do-backlink देते हैं ताकि लोग उसपे जाकर product खरीद सके और साथ-ही-साथ        Google में कंपनी की Website की rankings भी बढ़ जाए।
Backlink Checker Tool संबंधित प्रमुख शब्द 
  हाई क्वालिटी बैकलिंक्स (High Quality Backlinks)- गूगल अलग-अलग वेबसाइटों से मिलने वाले backlinks को अलग-अलग          value देता है। बड़ी, लोकप्रिय और high domain authority वाली वेबसाइटों से मिलने वाले बैकलिंकों को High Quality Backlinks या सिर्फ Quality  Backlinks कहा जाता है
  लो-क्वालिटी बैकलिंक्स (Low Quality Backlinks)- छोटी, कम लोकप्रिय और low domain authority वाली वेबसाइटों से मिलने        वाले backlinks को Low Quality Backlink बोला जाता है।
  लिंक ज्यूस (Link Juice)- बहुत ही आसान भाषा में बोलें तो link juice मतलब गूगल किसी link को कितना juice यानि कितनी value    देता है।
  बाहरी कड़ी (Enternal/Outbound Link)- हमारी वेबसाइट पर जो दूसरी साइट का link मौजूद होता है उसे External या Outbound    link कहते हैं।

 वेबसाइट के लिए Backlink Checker Tool कैसे बनाएँ?

 गेस्ट पोस्टिंग (Write Guest Posts)-
 बात जब नई साइट्स के लिए link बनाने की आती है तो guest posting लिंक बिल्डिंग तकनीकों की फेहरिस्त में सबसे पहले नंबर पर   आती है। गेस्ट पोस्टिंग यानि अपने ही niche की किसी साइट पर एक post लिखना जिसे guest post कहा जाता ह)। इस गेस्ट पोस्ट के   बदले वह साइट आपकी साइट को एक backlink देती है।
 अच्छा कंटेन्ट लिखकर (Write Great Content)-
 अगर आप अपनी वेबसाइट पर अच्छा कंटेन्ट publish करते हैं तो लोग उसे share करना पसंद करते हैं। इसके अलावा अच्छा कंटेन्ट   लिखने से अन्य वेबसाइटें भी आपकी पोस्ट का link अपने पोस्ट में देती है जिससे आपकी वेबसाइट को backlinks मिलते हैं।
 ब्रोकेन लिंक बिल्डिंग (Broken Link Building)-
 यह तकनीक दुनिया के सर्वश्रेष्ट SEO experts में शुमार Brian Dean  के द्वारा ईजाद की गई
 है।
इसमें आपको किसी दूसरे व्यक्ति की वेबसाइट पर मौजूद broken links का पता लगाना होता है, यानि वो links जो अब काम नहीं करते   हैं (जिसके लिए आप chrome extensions की मदद ले सकते हैं)।
इसके बाद आपको email करके website owner को ब्रोकन लिंक्स के   बारे में जानकारी देनी है और उससे उस broken link की जगह अपनी वेबसाइट की किसी relavant post का link देने की request  करनी  है।
 इस तरह इस बात की काफी संभावना होती है कि वह आपको backlink दे दे क्योंकि आखिर आपने उसकी मदद जो की है।
 ब्लॉग कमेन्ट (Blog Commenting)-
 अपने टॉपिक से संबंधित अन्य blogs पर जाकर हम proper comment करके अपनी वेबसाइट का link वहाँ पर दिए गए box में insert   कर सकते हैं।  इस तरह के लिंक हालांकि nofollow होते हैं लेकिन इनसे हमारे ब्लॉग को काफी फायदा होता है।
  डाइरेक्टरी और कम्यूनिटी में शामिल करें (Directory & Forum Submission)-
  अपनी वेबसाइट को डाइरेक्टरियों जैसे- indiblogger और कम्यूनिटियों जैसे- facebook groups, reddit आदि में शामिल करने से        links बनते हैं जो हमारी वेबसाइट को अच्छी position पर rank करने में मदद करते हैं।
Top Hindi Help Ki Post Ko Share Karo
0Shares

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0Shares